Thursday, July 22, 2010

इतवार

सपनों तक
घुस आई है धूप
वक्त का पता नहीं
पर दिन-
यकीनन इतवार है.